108 Kuber Mantra Jaap – जानिए कुबेर देव के 108 नाम जाप क्या हैं

108 kuber mantra

अजनाभ में आपका स्वागत है आज हम जानेंगे कुबेर के 108 नामों के बारे में। दोस्तों कुबेर को धन का देवता कहा जाता है और कुबेर जी की पूजा अर्चना करने से अथाह धन की प्राप्ति होती है। कुबेर के 108 नाम उस प्रकार हैं। आप इनमे से किसी भी मंत्र का जाप करके श्री कुबेर देव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं। आपके जीवन में सुख सम्पति और सफलता पाने के लिए इन मन्त्रों का उपयोग अवश्य करें।

ॐ शङ्करसखाय नमः।
ॐ महालक्ष्मीनिवासभुवये नमः।
ॐ महापद्मनिधीशाय नमः।
ॐ पूर्णाय नमः।
ॐ पद्मनिधीश्वराय नमः।
ॐ शङ्ख्यनिधिनाथाय नमः।
ॐ कुन्दाक्यनिधिनाथाय नमः।
ॐ नीलनित्याधिपाय नमः।
ॐ महते नमः।
ॐ वरन्नित्याधिपाय नमः।
ॐ पूज्याय नमः।
ॐ लक्ष्मिसाम्राज्यदायकाय नमः।
ॐ इलपिलापतये नमः।
ॐ कोशाधीशाय नमः।
ॐ कुलोचिताय नमः।
ॐ अश्वारूढाय नमः।
ॐ विश्ववन्द्याय नमः।
ॐ कुबेराय नमः।
ॐ धनदाय नमः।
ॐ श्रीमाते नमः।
ॐ यक्षेशाय नमः।
ॐ गुह्य​केश्वराय नमः।
ॐ निधीशाय नमः।
ॐ विशेषज्ञानाय नमः।
ॐ विशारदाय नमः।
ॐ नलकूबरनाथाय नमः।
ॐ मणिग्रीवपित्रे नमः।
ॐ गूढमन्त्राय नमः।
ॐ वैश्रवणाय नमः।
ॐ चित्रलेखामनःप्रियाय नमः।
ॐ एकपिनाकाय नमः।
ॐ अलकाधीशाय नमः।
ॐ पौलस्त्याय नमः।
ॐ नरवाहनाय नमः।
ॐ कैलासशैलनिलयाय नमः।
ॐ राज्यदाय नमः।
ॐ रावणाग्रजाय नमः।
ॐ चित्रचैत्ररथाय नमः।
ॐ उद्यानविहाराय नमः।
ॐ विहरसुकुथूहलाय नमः।
ॐ सुखसम्पतिनिधीशाय नमः।
ॐ मुकुन्दनिधिनायकाय नमः।
ॐ सर्वपुण्यजनेश्वराय नमः।
ॐ नित्यकीर्तये नमः।
ॐ महोत्सहाय नमः।
ॐ महाप्राज्ञाय नमः।
ॐ सदापुष्पक वाहनाय नमः।
ॐ सार्वभौमाय नमः।
ॐ अङ्गनाथाय नमः।
ॐ सोमाय नमः।
ॐ सौम्यादिकेश्वराय नमः।
ॐ पुण्यात्मने नमः।
ॐ पुरूहुतश्रियै नमः।
ॐ मकराख्यनिधिप्रियाय नमः।
ॐ निधिवेत्रे नमः।
ॐ लंकाप्राक्तन नायकाय नमः।
ॐ यक्षिनीवृताय नमः।
ॐ किन्नरेश्वराय नमः।
ॐ किंपुरुशनाथाय नमः।
ॐ नाथाय नमः।
ॐ यक्षाय नमः।
ॐ परमशान्तात्मने नमः।
ॐ यक्षराजे नमः।
ॐ यक्षिणि हृदयाय नमः।
ॐ नित्येश्वराय नमः।
ॐ धनाधयक्षाय नमः।
ॐ खट्कायुधाय नमः।
ॐ वशिने नमः।
ॐ ईशानदक्ष पार्स्वस्थाय नमः।
ॐ वायुवाय समास्रयाय नमः।
ॐ धर्ममार्गैस्निरताय नमः।
ॐ धर्मसम्मुख संस्थिताय नमः।
ॐ अष्टलक्ष्म्याश्रितलयाय नमः।
ॐ मनुष्य धर्मण्यै नमः।
ॐ सकृताय नमः।
ॐ कोष लक्ष्मी समाश्रिताय नमः।
ॐ धनलक्ष्मी नित्यवासाय नमः।
ॐ राज्यलक्ष्मीजन्मगेहाय नमः।
ॐ धैर्यलक्ष्मी-कृपाश्रयाय नमः।
ॐ अखण्डैश्वर्य संयुक्ताय नमः।
ॐ नित्यानन्दाय नमः।
ॐ सुखाश्रयाय नमः।
ॐ नित्यतृप्ताय नमः।
ॐ निधित्तरै नमः।
ॐ निराशाय नमः।
ॐ अनघाय नमः।
ॐ राजयोगसमायुक्ताय नमः।
ॐ राजसेखरपूज्याय नमः।
ॐ राजराजाय नमः।
ॐ धान्यलक्ष्मीनिवास भुवये नमः।
ॐ अश्तलक्ष्मी सदवासाय नमः।
ॐ गजलक्ष्मी स्थिरालयाय नमः।
ॐ निरुपद्रवाय नमः।
ॐ नित्यकामाय नमः।
ॐ निराकाङ्क्षाय नमः।
ॐ निरूपाधिकवासभुवये नमः।
ॐ सदानन्दक्रिपालयाय नमः।
ॐ गन्धर्वकुलसंसेव्याय नमः।
ॐ सौगन्धिककुसुमप्रियाय नमः।
ॐ स्वर्णनगरीवासाय नमः।
ॐ निधिपीठ समस्थायै नमः।
ॐ महामेरुत्तरस्थायै नमः।
ॐ महर्षिगणसंस्तुताय नमः।
ॐ शान्ताय नमः।
ॐ सर्वगुणोपेताय नमः।
ॐ सर्वज्ञाय नमः।
ॐ सर्वसम्मताय नमः।
ॐ सर्वाणिकरुणापात्राय नमः।
ॐ तुष्टाय नमः।
ॐ शूर्पणकज्येष्ठाय नमः।
ॐ शिवपूजारताय नमः।

हिन्दू शास्त्रों के अनुसार कुबेर जी को भगवन शिव ने वरदान दिया था जिससे वो सभी लोकों की सम्पति के अध्यक्ष बन गए और उन्हें धन सम्पति के लिए पूजा जाने लगा। आप ऊपर दिए गए किसी भी मंत्र का 108 बार जाप कर सकते हैं, इससे आपको अथाह धन की प्राप्ति होगी। नियमित रूप से ज्ञानवर्धक जानकारियों के लिए अजनाभ को सब्सक्राइब ज़रूर करें। आपके प्यार और सहयोग के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद्। जय हिन्द।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: